आयुष विभाग कोविड केयर सैन्टरों व होम आईसोलेशन में संक्रमित मरीजों की पूर्ण निष्ठा के साथ कर रहा है देखभाल - Discovery Times (Maharashtra)

Breaking

Ad

Post Top Ad

Responsive Ads Here

आयुष विभाग कोविड केयर सैन्टरों व होम आईसोलेशन में संक्रमित मरीजों की पूर्ण निष्ठा के साथ कर रहा है देखभाल

 

कुरुक्षेत्र 27 सितम्बर:जिला आयुर्वेद अधिकारी डा. सुदेश जाटियान ने कहा कि कोरोना महामारी से लोगों को बचाने के लिए आयुष विभाग पूरी निष्ठा एवं लगन के साथ लगा हुआ है। कोरोना से बचाव में इम्युनिटी बढाने के लिए आयुष क्वाथ व आयुर्वेदिक औषधियॉ कारगर साबित हो रही है।  आयुष चिकित्सा पद्धतियों को हथियार के तौर पर प्रयोग करते हुए आयुष विभाग द्वारा जिला कुरूक्षेत्र के सभी खंडों में जिला प्रशासन द्वारा समय समय पर घोषित कन्टेनमैन्ट जोन, होम आईसोलेशन में रखे गये मरीज व उसके आसपास के घरों में व जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष तौर पर वृद्धजनों को इम्युनिटी बूस्टर किटों का व्यापक पैमाने पर वितरण किया जा रहा है। इसके साथ-साथ आयुष विभाग के अधिकारीयों द्वारा होम आईसोलेशन में रखे गये मरीजों की दूरभाष के माध्यम से भी सम्पर्क करके स्वास्थ्य सम्बन्धी समास्याओं का निवारण किया जा रहा है।  

             उन्होंने कहा कि कोरोना से बचने का सबसे अच्छा उपाय है कि स्वयं की देखभाल करे क्योकि जितना आप स्वंय को सुरक्षित रखेगें उतना ही कम कोरोना होने की सम्भावना रहेगी। प्रत्येक व्यक्ति को अपने खान पान व दिनचर्या पर विशेष तौर पर ध्यान देना चाहिए। संक्रमण से बचने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा भी दिशानिर्देश जारी किये हुए है। बाहर निकलते हुए मास्क का प्रयोग अवश्य करे, एक दूसरे के सम्पर्क में आने से बचे व 2 गज की दूरी बनाये रखे, समय समय पर कम से कम 20 सैकेन्ड अपने हाथों को अच्छे से धोऐ, बहुत जरूरी कार्य होने पर ही बाहर निकले आदि नियमों की पालना करके हम कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोके सकते है।

उन्होंने कहा कि आयुष विभाग द्वारा जिले में कन्टेनमैन्ट जोन के साथ-साथ शहरी व ग्रामीण क्षेत्रो में हजारों की संख्या में इम्युनिटी बूस्टर किटों का वितरण विशेष तौर पर वृद्धजनों को किया जा चुका है जो कि अभी भी निरन्तर जारी है। जिला आयुर्वेद अधिकारी ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि अपनी व अपने परिवार के सदस्यों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने के लिए संतुलित आहार लेना, प्रतिदिन व्यायाम व योग करना को अपने जीवन में अपनाये व स्वस्थ रहे, प्रतिदिन ताजा भोजन करे, विटामिन सी से भरपूर जैसे आवंला, नींबू पानी इत्यादि का बार-बार सेवन करे और अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ad