केन्द्र सरकार किसानों की आय दौगुना करने की दिशा में प्रयासरत:कटारिया - Discovery Times (Maharashtra)

Breaking

Ad

Post Top Ad

Responsive Ads Here

केन्द्र सरकार किसानों की आय दौगुना करने की दिशा में प्रयासरत:कटारिया

कुरुक्षेत्र 4 अक्टूबर (अनिल धीमान):केन्द्रीय जल शक्ति राज्यमंत्री रत्न लाल कटारिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के किसानों की आमदनी दुगुना करने की दिशा में कार्य कर रहे है। तीनों नए कानूनों से भारत के किसान आत्मनिर्भर बनेंगे, किसानों की आमदनी दुगनी होगी और किसानों के पास विकल्प होगा कि वे चाहे अपनी फसल मंडी में बेचे या मंडी से बाहर बेंचे।

केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री रत्न लाल कटारिया ने बातचीत करते हुए कहा कि इन नए कृषि कानूनों से कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन आएगा, खेती किसानों में निजी निवेश होने से तेज विकास होगा तथा रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, कृषि क्षेत्र की अर्थव्यवस्था मजबूत होने से देश की आर्थिक स्थिति और सुदृढ़ होगी, किसानों का एक देश-एक बाजार का सपना भी पूरा होगा, एमएसपी की व्यवस्था जारी रहेगी तथा सरकारी खरीद की पहले की तरह जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार ने मिलकर एक साल में हरियाणा के किसानों को गेहूं, धान, बाजरा के मूल्य के अतिरिक्त अन्य कृषि योजनाओं के अंतर्गत लाभ 81 हजार करोड़ रुपए देने का काम किया है। केन्द्र व राज्य सरकार किसानों की सबसे बड़ी हितैषी है, सरकार के पिछले कार्यकाल में किसानों को 5300 करोड रुपए मुआवजे के रूप में दिए गए।

             "नए अध्यादेशों से देश का किसान बनेगा आत्मनिर्भर, किसानों का एक देश-एक बाजार का सपना होगा साकार"

उन्होंने कहा कि विपक्ष ने जहां 10 साल में कृषि बजट में 8.5 बढ़त, वहीं वर्तमान सरकार के पिछले 6 सालों में 38.5 की बढ़त की है और किसानों को 16.38 लाख रुपए का ऋण उपलब्ध कराया है। हाथरस की दुखद घटना पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी द्वारा सीबीआई जांच सिफारिश करने डीएम, एसपी, डीएसपी को सस्पेंड करने व एसआईटी द्वारा जांच करने के बाद भी विपक्ष अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने चाहता है, लेकिन देश की जनता ने पहले ऐसे नापाक इरादों पर नाकाम किया है और इस बार भी मुंहतोड़ जवाब देगी। देश के नागरिक चट्टान की तरह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ खड़े है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ad